शमी के बाद उमेश भी ऑस्ट्रेलिया दौरे से बाहर; शार्दूल या नटराजन को मिल सकता है मौका



ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 7 जनवरी से शुरू होने वाले तीसरे टेस्ट के पहले टीम इंडिया के लिए एक परेशान करने वाली खबर है। दूसरे टेस्ट में चोटिल हुए पेसर उमेश यादव अब सीरीज में आगे नहीं खेल सकेंगे। उमेश देश लौट रहे हैं। उनकी जगह शार्दूल ठाकुर या टी नटराजन को सिडनी टेस्ट में मौका मिल सकता है।

उमेश मेलबर्न टेस्ट के तीसरे दिन चोटिल हुए थे। उनकी मांसपेशियों में खिंचाव है। इस मैच में उनका बचा हुआ ओवर मोहम्मद सिराज ने पूरा किया था। उमेश फिट होने के बाद नेशनल क्रिकेट अकेडमी (NCA) में ट्रेनिंग करेंगे।

हमारे तीन पेसर इंजर्ड

  • इशांत शर्मा: ऑस्ट्रेलिया दौरे पर जा ही नहीं पाए थे। उनकी पीठ में खिंचाव है।
  • मोहम्मद शमी: पहले टेस्ट के दौरान पैट कमिंस की गेंद हाथ पर लगी। फ्रेक्चर हुआ। देश लौट चुके हैं। 6 हफ्ते आराम करेंगे।
  • उमेश यादव : दूसरे टेस्ट के दौरान जांघ की मांसपेशियों में खिंचाव हुआ। देश लौट रहे हैं।

शार्दूल को बैटिंग स्किल्स का फायदा मिल सकता है
उमेश की जगह मुंबई के ऑलराउंडर शार्दूल को सिडनी टेस्ट में मौका मिल सकता है। वे पेसर होने के साथ ही लोअर ऑर्डर में अच्छी बैटिंग भी कर सकते हैं। BCCI के एक सूत्र ने न्यूज एजेंसी से कहा- लोग टी नटराजन को लेकर खुश और उत्सुक हैं। लेकिन, उन्होंने तमिलनाडु के लिए सिर्फ एक फर्स्ट क्लास मैच खेला है।

शार्दूल कई सीजन से मुंबई के लिए रेड बॉल क्रिकेट खेल रहे हैं। उन्हें वेस्टइंडीज के खिलाफ मौका मिला थे, लेकिन बदकिस्मती से वे घायल हो गए और एक ओवर भी पूरा नहीं कर पाए। उमेश की जगह उन्हें प्लेइंग-11 में मौका मिल सकता है।

हालांकि, इस बारे में आखिरी फैसला हेड कोच रवि शास्त्री, कप्तान अजिंक्य रहाणे और गेंदबाजी कोच भरत अरुण ही करेंगे। शार्दूल ने अब तक 62 फर्स्ट क्लास मैच खेले हैं। इनमें उनके 206 विकेट हैं। उन्होंने पांच हाफ सेंचुरी भी लगाई हैं।

सीरीज 1-1 की बराबरी पर
चार टेस्ट मैचों की सीरीज फिलहाल 1-1 की बराबरी पर है। एडिलेड के पहले टेस्ट (डे-नाइट) में ऑस्ट्रेलिया ने भारत को 8 विकेट से हराया था। दूसरे टेस्ट में भारत ने 8 विकेट से जीत दर्ज की थी।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


मेलबर्न टेस्ट के तीसरे दिन उमेश यादव की मांशपेशियों में खिंचाव आ गया था। उनका ओवर मोहम्मद सिराज ने पूरा किया था।

https://www.bhaskar.com/rss-feed/1053/